Friday 12 October 2007

क्या कसूर था रिज़ावानुर का........


रिज़ावानुर ने प्रियंका तोडी से शादी की...इसीलिये उसे मार दिया गया....सचाई यही है लेकिन इसकी लीपापोती कि जा रही है....अब तो मुख्यमंत्री बुद्धदेव भी इस मामले की जांच CBI से करवाने के पक्ष मे नहीं हैं....रिज़ावानुर का कसूर था कि उसने १ अमीर बाप की बेटी से शादी करने की गुस्ताखी कि थी.....रिज़ावानुर का कसूर यह था कि उसने मुस्लिम होकर १ हिंदु लडकी से शादी करने जैसा महा पाप किया था....


ज़ाहिर है कि और सब मामलों कि तरह यह मामला भी आया गया हो जाएगा जैसा कि पहले भी होता आया है....रह जायेंगे कुछ सवाल?

प्रियंका के बाप की पहुंच ऊपर तक है....इसका साबुत इस बात से मिल जाता है कि विपक्ष कि पार्टी त्रिन्मोल कॉंग्रेस भी प्रियंका के बाप की तरफ हो गयी॥

भारतीय समाज की विडम्बना ही कही जायेगी कि यहां आज भी लैला मजनू और हीर राँझा वाली मानसिकता वाली समाज है....वक़्त बदल गया लेकिन ये टुच्चे मानसिकता वाले लोग आज भी मौजूद हैं....तोडी ने अपनी बेटी को क्यों नही मर दिया....संभव है कि यही तोडी कुछ समय बाद अपनी बेटी की शादी बडे धूमधाम से करते हुए नज़र आएगा और हम सभी इस शादी को देखेंगे लेकिन कोई कुछ नहीं बोलेगा क्योकि रिज़ावानुर हमारे मजहब का नहीं था.......

No comments: