Saturday 17 October 2009

अब समाचार सुनी, ...हम बानी...............

कभी किसी ने नही सोचा था की एक दिन ऐसा भी आएगा जब समाचार ख़ुद की भाषा में सुनाने को मिलेगा। वैसे क्षेत्रीय भाषाओँ के कई समाचार चैनल हैं लेकिन जब एक नही दो क्षेत्रीय भाषणों के चैनल एक ही राज्य में देखने को मिले तो पता चल जाता है की अपनी भाषा की ताकत कितनी है। मैं बिहार की भाषा मैथली और भोजपुरी की बात कर रहा हूँ। मैंने ऐसे कई लोगो को देखा है जो इन भाषाओँ को बोलते समय तोडा झिझक या शर्म महसूस करते हैं। उन्हें अपनी भाषा पर गर्व की जगह शर्म आती है। कोई पंजाबी, बंगला, तमिल, तेलगु, मलयालम, मराठी जैसी संविधान के वर्णित २२ भाषायें बे झिझक बोल सकता है लेकिन जब बिहार की भाषा की बात आती है शर्म आने लगती है।

उन लोगो के लिए ही हमार के बाद महुआ जैसे समाचार चैनल आए है। और अब मैथली के भी समाचार चैनल शुरू हो गया है। ख़बर क्या है क्या नही इसे राष्ट्रिय चैनल वाले निर्धारित करते हैं। वे जो कहे वही ख़बर है, और जो न दिखाए वो ख़बर नही होती। भाई साहब इतने तो सब को समझ में आता है की ख़बर किसे कहते हैं। लेकिन बेचारे दर्शको का क्या कसूर है उन्हें तथाकथिक चैनल वाले पप्पू बनने में सफल हो ही जाते हैं। आप सोच रहे होंगे की मैं क्षेत्रीय चैनल का इतने बड़ा हिमायती क्यो हूँ। इसमे कोई बड़ी बात नही है। आख़िर आप ही बताइए की केरल या बंगाल में बैठे किसी इंसान को सरोजनी नगर और ग्रेटर कैलाश के सुरक्षा की खबरों से क्या वास्ता हो सकता है। क्या केवल राजधानी की खबरें ही मत्वपूर्ण है.....उड़ीसा, झाखंड या छातिगढ़ की खारों का राष्ट्रिय समाचार चैनल पर कोई स्थान नही है। ऐसा नही है....बेचारे तथाकथिक राष्ट्रिय समाचार चैनल वाले भी वही की ख़बर दिखाना चाहते है लेकिन उनकी चाहत टी आर पी के नीचे दब कर दम तोड़ देती है।

मैंने मैथली चैनल पर एक खबर देखी वो ख़बर सकरी चीनी मिल के बंद होने की थी। रिपोर्टर ख़बर को मैथली के बता रहा था। खास बात ये थी की वो ख़बर किसी लायक से टी वी के लिए नही थी। लेकिन ख़बर बहुत दमदार थी। ऐसी खाबें रोजाना बड़े राष्ट्रिय समाचार चैनल पर आते हैं लेकिन उन्हें चलाया नही जाता क्यो की वे जिनके लिए ख़बर दिखाते हैं उन्हें सकरी के चीनी मिल से कोई मतलब नही है। ऐसी हालत में अगर भोजपुरी और मैथली भाषाओँ के समाचार देखिये जाए तो उसकी सफलता में कोई शक नही है। मेरी तरफ़ से इन चैनलों को और इनमे काम करने वाले सभी कर्मचारियों को दीपावली की ढेरों शुभकामनाय.......
और आप सभी पाठकगन को भी दीपावली मुबारक हो......

No comments: